कॉल सेंटर में जॉब कैसे पाएं? देखें पूरी जानकारी

आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति के पास नौकरी होना अनिवार्य हो गया है। बगैर आर्थिक आत्मनिर्भरता के समाज में सम्मान भी मिलना कठिन होता है। यदि आपने 10th या 12th पास किया है या फिर घरेलू औरत है, तो आपके लिए आज का पोस्ट खास होने वाला है। यहां हम आपको बताएंगे कि कॉल सेंटर में जॉब कैसे पाएं, जो आप जैसे लोगों के लिए आरामदायक होता है।

हर वर्ष कई लड़कों और लड़कियों को कॉल सेंटर में भर्ती किया जाता है और अच्छी सैलरी भी दी जाती है। आपको हम बताएंगे कि कॉल सेंटर क्या होता है, यहां क्या काम किया जाता है, क्या लाभ और नुकसान है, आदि। अगर आपको भी इसमें रुचि है, तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें। इस लेख में आपको सारी महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी, जो नौकरी में मदद करेगी। 

कॉल सेंटर क्या होता है? 

आपको कभी ना कभी मोबाइल रिचार्ज खत्म होने के बाद ऑफिशियल कॉल जरूर आई होगी। जिसमें आपको रिचार्ज प्लान, आदि के बारे में जानकारियां प्रदान की जाती है। इसके अलावा आपने भी कभी ना कभी कस्टमर केयर को जरूर कॉल किया होगा। कभी आपके भी मन में यह प्रश्न अवश्य ही आए होंगे कि आखिर वह कौन होते हैं? जो आपके कॉल का उत्तर देते हैं, और आपकी समस्याओं के समाधान में सहायता प्रदान करते हैं? तो हम आपको बता दे कि इन्हें कॉल सेंटर वर्कर्स कहा जाता है। इन्हें कंपनियों या फिर सरकार के द्वारा हायर किया जाता है। उसके बाद उन्हें कंपनी के द्वारा ट्रेन किया जाता है, जिससे कि वह अपने कस्टमर के साथ डील कर सके। यह कंपनियां या सरकारी विभाग लोगों को कॉल अटेंड करने और दूसरों की मदद करने के लिए हायर करती है। 

कॉल सेंटर में क्या काम होता है? 

कॉल सेंटर्स मुख्य रूप से समस्या के समाधान हेतु संचालित किए जाते है। यदि आपको कोई समस्या है, तो आप संबंधित संस्था के कॉल सेंटर में कॉल करके अपनी समस्या के समाधान हेतु बात कर सकते हैं। इन सेंटर में कई सारे वर्कर्स होते हैं, जिन्हें काफी अच्छे से ट्रेन किया जाता हैं। उन्हें कस्टमर कॉल का आंसर करना होता है और उनकी समस्याओं को सुनकर उन्हें हल भी बताना होता है। इसके अलावा कई सारे कॉल सेंटर में तो वर्कर्स लोगों को कॉल करके अपने संस्था या फिर कंपनी की नई-नई फैसिलिटी या फिर फीचर्स को बताते हैं। जिससे उनकी पब्लिसिटी भी हो सके और महीने में सेल भी बढ़ें। 

Also Read: 12वीं के बाद जॉब अपॉर्चुनिटी, आइए जानते हैं 12वीं के बाद प्रमुख सरकारी नौकरियों के बारे में

कॉल सेंटर में जॉब करने से क्या फायदा है?

आपने यह तो जान लिया कि कॉल सेंटर में क्या काम होता है। लेकिन क्या आप यह जानते है कि यहां काम करने से कितना फायदा मिल सकता है? आपको हम अब यहीं बताने वाले है, ध्यान से इसके लाभ के बारे में पढ़ें। 

  • यदि आप इंटरवर्ट है, तो कॉल सेंटर में काम करने आप ज्यादा से ज्यादा लोगों से बात कर पाएंगे। धीरे धीरे आपमें दूसरों के सामने अपनी बात रखने की हिम्मत बढ़ेगी। 
  • अगर आप एक स्टूडेंट है, तो यहां की कोई भी शिफ्ट में काम करके आप अपना खर्चा आसानी से चला सकते है। 
  • अलग अलग लोगों से बात करने से आपकी कम्युनिकेशन स्किल भी सुधरती है। यहीं गुण आपको आगे दूसरे फील्ड में काफी मदद करता है। 
  • कॉल सेंटर में जॉब करने के लिए आपको कोई पैसा नहीं देना पड़ता है। आप यहां बिना किसी यूनिफॉर्म के भी आ सकते है क्योंकि काम बस कॉल का ही रहता है। 
  • अगर आप कहीं दूसरी जगह काम करते है, तो नाइट शिफ्ट की नौकरी करके एक्स्ट्रा कमाई कॉल सेंटर से की जा सकती है। 

कॉल सेंटर में जॉब पाने के लिए क्या योग्यता चाहिए?

यदि आप कॉल सेंटर में काम करना चाहते हैं, तो फिर आपको इस विषय में भी जानकारी होनी चाहिए कि कॉल सेंटर में काम करने के लिए क्या योग्यता चाहिए। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको यह बताएंगे कि कॉल सेंटर में काम करने के लिए किन विशेषताओं की आवश्यकता होती है। इसके बाद ही आप निर्णय ले कि आपको इस क्षेत्र में जाना है या नहीं।  

1.कंप्यूटर नॉलेज

यदि आप एक कॉल सेंटर में काम करना चाहते हैं, तो आपको कंप्यूटर की अच्छी खासी नॉलेज होनी चाहिए। बिना कंप्यूटर नॉलेज के आप इस फील्ड में काम नहीं कर सकते हैं।कॉल सेंटर में ज्यादातर काम कंप्यूटर सिस्टम में ही होता है। ऐसे में अगर आपको कंप्यूटर की नॉलेज नहीं है, तो फिर आप कॉल सेंटर में जॉब नहीं कर पाएंगे। आपको अभी से ही इस क्षेत्र में कार्य करना शुरू कर देना चाहिए। शुरुआत में आप अपने नजदीक किसी भी कंप्यूटर क्लासेस को ज्वाइन कर सकते हैं। आपको बेसिक कंप्यूटर नॉलेज पहले लेनी होगी, उसके बाद एडवांस कंप्यूटर नॉलेज ले सकते हैं। 

Also Read: 10 लाख में कौन सा बिजनेस करें? टॉप 11 आइडिया से होगी मोटी कमाई

2.कम्युनिकेशन स्किल 

कॉल सेंटर में कस्टमर को कॉल किया जाता है या फिर कस्टमर के कॉल को रिसीव करके उनके समस्याओं को सुना जाता है। उनकी बातों को सुनने के बाद उसके अनुरूप समाधान बताया जाता है। इसलिए जरूरी है कि कम्युनिकेशन स्किल्स आपकी अच्छी हो, तभी आपको कॉल सेंटर की जॉब प्राप्त हो सकती है। हालांकि, कम्युनिकेशन स्किल्स डेवलप करने के लिए आपको अलग से ट्रेनिंग भी दी जाती है। लेकिन यह तभी संभव हो पाएगा, जब कॉल सेंटर की जॉब के लिए आपका चयन हो जाएगा। कॉल सेंटर में काम करने से आपकी कम्युनिकेशन स्किल और भी ज्यादा अच्छी हो जाती है। 

3.भाषा का ज्ञान

अगर आप कॉल सेंटर में काम करना चाहते हैं, तो आपको हिंदी और इंग्लिश भाषा की जानकारी अच्छे से होनी चाहिए। इसके अलावा आपको बोली पर भी अच्छी पकड़ हो, जिससे आप अपने कस्टमर के साथ अच्छे से डील कर सके। अगर आप लोकल कॉल सेंटर में काम करना चाहते है, तो वहां के लिए आपके पास क्षेत्रीय भाषा और हिंदी का ज्ञान होना पर्याप्त है। लेकिन अगर आप नेशनल या फिर इंटरनेशनल कॉल सेंटर में काम करने की सोच रहे हैं, तो आपको इंग्लिश अच्छे से आनी चाहिए। इन भाषा का ज्ञान होने का मतलब यह नहीं है कि आपको इनकी कोई लिखित परीक्षा देनी होगी। केवल बोलचाल में ही आपको इनका इस्तेमाल करना है ताकि सामने वाला आपकी बातों को समझ सकें। 

4.एजुकेशन

कॉल सेंटर में काम करने के लिए आपके पास कम से कम एजुकेशन की डिग्री होनी चाहिए। कॉल सेंटर में काम करने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12वीं पास करनी होगी। आप किसी भी संस्थान से 12th दे सकते है, बस मान्यता प्राप्त होना चाहिए। इसके अलावा अगर आप ग्रेजुएट है, तो आपको काफी ज्यादा प्राथमिकता मिल सकती है। कहीं कहीं 10th बोर्ड के बाद भी आपको कॉल सेंटर में काम करने का मौका दिया जाता है। 

5.हाजिर जवाब 

कॉल सेंटर में अधिक दिनों तक वहीं टिक सकता है, जो हाजिर जवाब हो। आपके पास यह गुण भी होना चाहिए ताकि सामने वाले के हर सवाल का जवाब आप दे सके। हालांकि, आपको ट्रेनिंग के दौरान ही बता दिया जाता है कि क्या क्या डिटेल देनी है। इसके अतिरिक्त भी कस्टमर के कुछ प्रश्न होते है, जिसका उत्तर आपके पास उसी समय मौजूद होना चाहिए। 

कॉल सेंटर में जॉब कैसे पाएं? देखें सारे स्टेप

कॉल सेंटर में काम करने के लिए आपको कुछ स्टेप फॉलो करने होते है। यहां जॉब पाने के लिए आपको नियमित रूप से एक्टिव रहना होगा। कहने का तात्पर्य यह है कि कई सारी कंपनियां तथा संस्थाएं समय-समय पर अखबार या फिर सोशल मीडिया के माध्यम से वेकेंसी नोटिफिकेशन जारी करते हैं। आपको इन नोटिफिकेशन पर ध्यान देना होगा और जब भी ऐसी खबर जारी की जाती है, तो आपको तुरंत ही आवेदन भी देना होगा। इसी के बारे में हम आपको नीचे स्टेप में बताने वाले है। 

  • एडवर्टाइजमेंट देखने के बाद आपको तुरंत संबंधित संस्थान के कॉल सेंटर में जॉब के लिए अप्लाई करना होगा। 
  • मांगे जाने वाली सारी डॉक्यूमेंट आपको वहां पर सबमिट करनी होगी। 
  • उसके बाद आपको कॉल सेंटर के द्वारा बुलाया जाएगा और आपकी क्वालिफिकेशन को चेक करने के बाद आपका इंटरव्यू लिया जाएगा। 
  • इंटरव्यू क्लियर करने के बाद आपको बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी, जिससे आप अच्छा काम कर सके। 
  • ट्रेनिंग कंप्लीट करने के बाद आपको नए कस्टमर से बात करनी होगी। इस दौरान आपकी रिकॉर्डिंग एडिटर भी सुनेगा और यदि आपको ट्रेनिंग की जरूरत है, तो इस बारे में बताया भी जाता है। वहीं अगर आप पूरे योग्य है, तो आपको जल्दी ही काम में लगा दिया जाता है। 
  • इस प्रकार से आप कॉल सेंटर में जॉब प्राप्त कर सकते हैं। 

अगर नोटिफिकेशन नहीं जारी किया गया है, तो आप अपने नजदीक के किसी भी कॉल सेंटर में जाकर अप्लाई कर सकते हैं। अगर वहां पर कोई वैकेंसी होगी, तो आपको जॉब मिल सकती है। 

कॉल सेंटर में कितनी सैलरी मिलती है?

कॉल सेंटर में काम करने वाले कर्मचारियों को सैलरी कितनी मिलती होगी, यह प्रश्न लगभग प्रत्येक व्यक्ति के मन में जरूर रहता है। लेकिन इसका उत्तर उतना सरल नहीं है, जितना सोचा जा रहा है। अर्थात अलग-अलग कंपनियां अपने कर्मचारियों को अलग-अलग सैलरी देता है। ऐसे में पूरे कॉल सेंटर के लिए एक ही सैलरी को बताना उचित नहीं होगा। इसके बावजूद भी अगर औसत रूप से देखा जाए, तो कॉल सेंटर कर्मचारियों को ₹8000 से लेकर ₹20000 तक की तनख्वाह प्रति महीने दिए जाते हैं। 

कॉल सेंटर में जॉब करने के क्या नुकसान है?

हर जगह कार्य करने के कुछ नुकसान भी होते है, ठीक उसी तरह कॉल सेंटर में जॉब करने में आपको कुछ परेशानी भी उठानी पड़ सकती है। उन्हीं के बारे में हम आपको विस्तार से बताने वाले है। 

  • रात की शिफ्ट में काम करने से कई तरह की बीमारी हो जाती है। इससे आपको पाचन की समस्या, हड्डियों में दर्द की दिक्कत या फिर दिमाग से जुड़ी कोई बीमारी हो जाती है। 
  • लगातार फोन में बात करने से स्ट्रेस लेवल भी काफी बढ़ जाता है और यदि सामने वाले गलत व्यवहार करता है, तो आपको बुरा भी लगता है। 
  • कॉल सेंटर की जॉब परमानेंट भी नहीं होती है, अगर आप अपना टास्क पूरा नहीं कर पाते है, तो आपको सेंटर कभी भी निकाल सकता है। 
  • जितना कॉल सेंटर में काम रहता है, उतनी सैलरी आपको नहीं मिलती है। आपसे काम काफी अधिक समय के लिए करवाया जाता है और बदले में पेमेंट काफी कम रहती है। 
  • ऐसी जगह में काम करने पर आपको कभी कभी फेस्टिवल में भी टास्क दे दिया जाता है। इससे आपके आम दिनचर्या में भी फर्क आ जाता है और छुट्टी ना के बराबर होती है। 

निष्कर्ष:-

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बताया कि कॉल सेंटर में जॉब कैसे पाएं और ढेर सारी जानकारी भी दी। इसके साथ यहां की सैलरी, योग्यता, फायदा और नुकसान के बारे में भी उल्लेख किया है। यदि आपको कोई अन्य जानकारी प्राप्त करनी है, तो आप कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते है। कॉल सेंटर में जॉब करना एक स्टूडेंट के लाभदायक हो सकता है, लेकिन लंबे समय के लिए इसकी पेमेंट आपको कम लगने लगेगी। इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़ें रहे और हर दिन कुछ नया पढ़ें। 

Leave a Comment